किसी औषधि से कम नहीं गणेश जी को चढ़ाई जाने वाली ये खास चीज

 गणेश पूजा में एक खास तरह की घास का विशेष महत्‍व होता है

जिसे दूर्वा साधारण भाषा में दुब कहते हैं। यह गणेश पूजा में जरूर चढ़ाई जाती है।

आयुर्वेद में दूब  को औषधि में रूप में उल्लेख किया गया है। जो बड़े से बड़े रोगों की जड़ को काटती है।

दुब पर सुबह पैदल चलने पर  मानसिक शांति मिलती है और आँखों की जलन शांत होती है

दूब में ग्‍लाइसेमिक नमक तत्व होता  है जो मधुमेह या डायबिटिक मरीजों के लिए लाभदायक है।

दूब के रस को  पीने से लाल रक्त कोशिकाओं बढ़ती है जिससे एनीमिया को ठीक किया जा सकता है।

दूब में एंटी  एंटीसेप्टिक एजेंट होते है जो स्किन रैशेज में लाभदायक है और चेहरे साफ़ करते है।

दुब में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, फाइबर, काफी मात्रा में होते हैं जो पेटऔर लीवर रोगों के लिए असरदार मानी जाती है।

दूब को पीसकर माथे पर लेप करने से सिरदर्द को आंखो को फायदा पहुंचता है और नेत्र सम्बंधी रोग दूर होते हैं ।

 दूब को पीस कर दूध में मिलाकर पीने से  यूरिन इंफेक्‍शन से आराम मिलता है।

 दूब को पीस कर दूध में मिलाकर पीने से  यूरिन इंफेक्‍शन से आराम मिलता है।