SBI: किसानों पर फिर मेहरबान हुई सरकार, अब गोदाम में रखी फसल पर मिलेगा लोन – News Nation

सांकेतिक तस्वीर (Photo Credit: News Nation)
नई दिल्ली :  
SBI Scheme 2023: बजट (budget 2023) से पहले किसानों के लिए खुशखबरी है. क्योंकि देश के सबसे बड़े बैंक ने किसानों को अब गोदाम में रखी फसल पर भी लोन देने को मंजूरी दे दी है. अभी तक उसी किसान को कर्ज दिया जाता था, जिसके पास जमीन होती थी. लेकिन अब अगर किसान के पास वेयर हाउस (Warehouse) में भी फसल रखी है तो वह कर्ज का हकदार है. यही नहीं इस कर्ज पर बैंक आपको सब्सिडी भी दे सकता है. हालांकि इसकी अभी कोई घोषणा नहीं की है. जानकारी के मुताबिक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने वेयरहाउसिंग एंड रेगुलेटरी अथॉरिटी (WDRA) के साथ एमओयू किया है.
यह भी पढ़ें : Go First Airline: सिर्फ 1,199 रुपए में करिये हवाई सफर का सपना पूरा, बुकिंग हुई शुरू
बिना जमीन नहीं मिलता था लोन 
दरअसल, अभी तक की पॅालिसी के मुताबिक सिर्फ वे ही किसान क्रेडिट कार्ड या कर्ज के हकदार होते थे. जिनके पास जमीन भूलेख में दर्ज है. सरकार के इस नियम से ऐसे लाखों किसान वंचित रह जाते थे, फसल का व्यापार करते हैं. यानि किसी अन्य किसान से फसल खरीदकर कोल्ड स्टोर आदि में रखते थे. सरकार ने समस्या को गंभीरता से लेते हुए अब ऐसे किसानों को भी लोन का हकदार बना दिया है, जिनकी फसल गोदाम में स्टोर है. जानाकारी के मुताबिक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने इसके लिए एमओयू भी साइन कर दिया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक  एमओयू की मदद से डब्लूडीआरए के साथ रजिस्टर्ड गोदामों से जारी इलेक्ट्रॉनिक निगोशिएबल वेयरहाउस की प्रमाणिकता पर बैंक किसानों को कर्ज प्रोवाइड कराएगा.
किसानों को होगा फायदा 
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक डब्‍ल्‍यूडीआरए के साथ भागीदारी से किसानों को फायदा होगा. यानि अब ऐसे किसान भी जिनके पास जमीन का टुकड़ा नहीं है, बैंक से कर्ज लेकर अपना इनकम बढ़ा सकेंगे. यही नहीं सुविधा शुरू होने से ज्यादा से ज्यादा वेयरहाउस डब्लूडीआर में रजिस्ट्रेशन कराएंगे. जिससे किसानों के कर्ज को व्यवस्थित ढंग से दिया जा सकेगा.
घर में रखी फसल पर नहीं दिया जाएगा कर्ज 
जानकारी के मुताबिक इस स्कीम के तहत सिर्फ उन्हीं किसानों को कर्ज दिया जाएगा. जो किसान अपनी फसल का भंडारण करने के लिए वेयरहाउस का इस्तेमाल करेंगे. घर में रखी फसल पर लोन नहीं दिया जाएगा. साथ ही वेयरहाउस भी रजिस्टर्ड होना जरूरी है. इस सुविधा का शुरू करने के पीछे सरकार का उद्देश्य है कि कई बार फसल का भाव सही न होने के चलते किसान उसे  कोल्ड स्टोर में रख लेते हैं. साथ ही फसल न बिकने के चलते उन्हें पैसे के संकट से गुजरना होता है. ऐसे में यदि किसी किसान ने अपनी फसल को पंजीकृत वेयरहाउस में रखा है तो स्टेट बैंक ऑफ इंडिया उसे लोन प्रोवाइड कराएगा. इसके लिए संबंधिक किसानों को वेयर हाउस की रिसिप्ट होना आवश्यक रहेगा.
© 2023 NEWSNATION. ALL RIGHT RESERVED.

source