Kab Hai Ram Navmi | Ram Navmi Wishes | राममवमी की हार्दिक शुभकामना संदेश

रामनवमी कब  है? Kab Hai Ram Navmi | Ram Navmi Wishes राममवमी की हार्दिक शुभकामना

चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को राम नवमी मनाई जाएगी. राम नवमी हिन्दू धर्म को मानने वालों का पावन पर्व है. इसी दिन मर्यादा-पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम ने राजा दशरथ के घर पर जन्म लिया था. भगवान श्रीराम का जन्म त्रेतायुग में चैत्र शुक्ल पक्ष की नवमी के दिन पुनर्वसु नक्षत्र तथा कर्क लग्न में हुआ था और इस साल राम नवमी (Chaitra Ram Navami 2022) 10 अप्रैल, 2022 (रविवार) को पड़ रही है.

राम नवमी के पीछे का इतिहास

पौराणिक मान्यता है कि राम नवमी के दिन  भगवान श्रीराम का जन्म हुआ था. इस तिथि को लोग श्रीराम के जन्म का उत्साह मनाते हैं और रामनवमी के पुण्य पर्व पर उपवास करते हैं. वहीं नवमी के दिन नवरात्रि का समापन होता है और भक्तजन कन्या पूजन करके देवी मां को सम्मान पूर्वक विदा करते हैं.

राम नवमी के दिन पूजा

  • इस दिन भगवान राम के भक्त कठोर उपवास रखते हैं।
  • रामनवमी के पूरे दिन विभिन्न मंदिरों में रामायण के पवित्र पाठ का पाठ किया जाता है।
  • भक्त भगवान को फूल और मिठाई चढ़ाते हैं और अखंड पाठ ‘ पूरे दिन करते  है।
  • अपने प्रिय राजा की जयंती के अवसर पर हर साल अयोध्या में एक बड़े मेले का आयोजन किया जाता है।
  • भारत के कुछ राज्यों में, यह नौ दिनों तक चलने वाले उत्सव का हिस्सा है।
  • अयोध्या की सड़कों पर हनुमान के साथ भगवान राम, सीता और लक्ष्मण की मूर्तियों की ‘ शोभा यात्रा ‘ का जुलूस निकाला जाता है।
  • दिन भर में कई बार ‘ओम श्री राम’ का पवित्र जाप किया जाता है।
  • राम नवमी के दिन हवन या पवित्र अलाव का आयोजन किया जाता है।
  • मंदिरों और अन्य धार्मिक स्थलों को रोशनी से सजाया जाता है और भगवान राम की मूर्तियों को बेहतरीन कपड़ों और आभूषणों से सजाया जाता है।
  • दक्षिण भारत में रामनवमी के दिन कल्याणोत्सवम का आयोजन किया जाता है।
  • बाद में, मूर्तियों को शहर भर में जुलूसों में निकाला जाता है और लोग इस अवसर की उत्सव की भावना का जश्न मनाते हुए रंगों से खेलते हैं।
  • भगवान राम की शिक्षाओं को प्रदर्शित करने और प्रचार करने के लिए संगठनों द्वारा सांस्कृतिक गतिविधियों के साथ विशेष समारोह आयोजित किए जाते हैं।

राम नवमी पर महत्वपूर्ण समय

सूर्योदय 10 अप्रैल, 2022 सुबह 6:14 बजे
सूर्य का अस्त होना 10 अप्रैल 2022 शाम 6:41 बजे
नवमी तिथि प्रारंभ अप्रैल 10, 2022 1:24 पूर्वाह्न
नवमी तिथि समाप्त 11 अप्रैल 2022 3:16 AM
राम नवमी पूजा मुहूर्त अप्रैल 10, 11:13 पूर्वाह्न – 10 अप्रैल, 1:42 अपराह्न
राम नवमी मध्याह्न क्षण अप्रैल 10, 2022 12:28 अपराह्न

Ram Navmi Wishes

रामनवमी का त्योहार पूरे देश में बड़ी श्रद्धा के साथ मनाया जाता है और उत्सव के पीछे हर क्षेत्र का अपना क्षेत्रीय महत्व है। अयोध्या में रामनवमी पूरे धूमधाम से मनाई जाती। दो दिनों तक विशाल मेले का आयोजन किया जाता है। राम और उनकी पत्नी सीता, भाई लक्ष्मण और भक्त हनुमान की रथ यात्रा या ‘रथ जुलूस’ कई मंदिरों से निकाले जाते हैं।

कब है राम नवमी 2022 से 2029 

  • 2022 रविवार, 10 अप्रैल
  • 2023 गुरुवार, 30 मार्च
  • 2024 बुधवार, 17 अप्रैल
  • 2025 रविवार, 6 अप्रैल
  • 2026 शुक्रवार, 27 मार्च
  • 2027 गुरुवार, 15 अप्रैल
  • 2028 मंगलवार, 4 अप्रैल
  • 2029 सोमवार, 23 अप्रैल

प्राचीन कहानी है कि राम नवमी के दिन ही गोस्वामी तुलसीदास ने रामचरितमानस को लिखना शुरू किया।तुलसीदासजी को 2 साल 7 माह 26 दिन का समय लगा था और उन्होंने इसे संवत् 1633 के मार्गशीर्ष शुक्लपक्ष में राम विवाह के दिन पूरा किया था।

रामनवमी शुभकामना संदेश Ram Navmi Wishes 

रामनवमी के इसी पवित्र त्यौहार पर हम आपके लिए कुछ चुनिंदा संदेश लाए हैं, जिनके जरिए आप अपनों को रामनवमी की शुभकामनाएं भेज सकते हैं।

मेरे प्रभु राम
जिनका अयोध्या है धाम
ऐसे रघुनंदन को बार बार प्रणाम

आप सबको राम नवमी की हार्दिक शुभकामनाएं।

Ram Navmi Wishes

राममवमी की हार्दिक शुभकामना

राम जी की निकली सवारी
राम जी की लीला है न्यारी
एक ओर लक्ष्मण जी एक ओर सीता जी
बीच में जगत के पालनहारी
हैप्पी राम नवमी 2022

Ram Navmi Wishes

श्री रामचन्द्र कृपालु भज मन
हरण भवभय दारुणाम
नवकंज लोचन, कंज मुख,
कर कंज, पद कंजारुणम
राम नवमी की हार्दिक बधाई

Ram Navmi Wishes

निकली है सज धज के राम जी की सवारी
लीला है सदा राम जी की न्यारी न्यारी
राम नाम है सदा सुखदायी
सदा हितकारी
राम नवमी की आप सभी को हार्दिक बधाई

Ram Navmi Wishes

Happy Ram Navami Wishes Images

लोकाभिरामं रणरंगधीरं राजीवनेत्रं रघुवंशनाथम्।
कारुण्यरूपं करुणाकरं तं श्रीरामचन्द्रं शरणं प्रपद्ये।।

Ram Navmi Wishes

ॐ दाशरथये विद्महे जानकी वल्लभाय धी महि॥
तन्नो रामः प्रचोदयात्।।

Ram Navmi Wishes

हे रामा पुरुषोत्तमा नरहरे नारायणा केशवा।
गोविन्दा गरुड़ध्वजा गुणनिधे दामोदरा माधवा।।
हे कृष्ण कमलापते यदुपते सीतापते श्रीपते।
बैकुण्ठाधिपते चराचरपते लक्ष्मीपते पाहिमाम्।।

Ram Navmi Wishes

 

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Recommended
Hanuman Jayanti,Hanuman Jayanti Status, Hanuman Jayanti Ki Hardik Subhkamna कब…
Cresta Posts Box by CP