Karwa Chauth Love Shayari | Husband Wife Shayari | Karwa Chauth 2022

करवा चौथ 2022 (karwa chauth 2022)

हिंदू धर्म में विवाहित महिलाओं के लिए करवा चौथ का विशेष महत्व है। इस दिन विवाहित महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र और सुखी वैवाहिक जीवन के लिए निर्जला (बिना पानी के) व्रत रखती हैं। इस दिन का हर शादीशुदा महिला को बेसब्री से इंतजार रहता है।

हिंदू कैलेंडर के अनुसार करवा चौथ हर साल कार्तिक माह में कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है। इस बार करवा चौथ का व्रत 13 अक्टूबर रविवार को पड़ रहा है. इस दिन महिलाएं रात में चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत खोलती हैं। करवा चौथ का व्रत इस बार बेहद खास होने वाला है क्योंकि इस साल करवा चौथ पर शुभ संयोग बन रहा है. तो आइए जानते हैं क्या है करवा चौथ का शुभ संयोग और क्या है चंद्रमा का समय और पूजा विधि।

करवा चौथ पर इस बार यह शुभ संयोग बन रहा है जिससे इसका महत्व और भी बढ़ जाएगा हिंदू पंचांग के अनुसार इस बार करवा चौथ पर चंद्रमा रोहिणी नक्षत्र में उदय होगा। इस नक्षत्र का स्वामी चंद्रमा है, इसलिए ऐसी मान्यता है कि इस नक्षत्र में चंद्रमा को देखने से मनोवांछित फल मिलता है.

करवा चौथ का महत्व (Karwa Chauth Ka Mahatva)

अपने बेहतरीन परिधानों में सजी महिलाएं संकल्प के साथ अपने दिन की शुरुआत करती हैं और पूरी ईमानदारी के साथ व्रत का पालन करने का संकल्प लेती हैं। फिर, वे भजन गाते हुए और आध्यात्मिक गतिविधियों में भाग लेते हुए दिन बिताते हैं। बाद में शाम को पूजा की जाती है और चंद्रमा को देखने के बाद व्रत तोड़ा जाता है।

ऐसा कहा जाता है कि जो महिलाएं इस व्रत को करती हैं उन्हें लंबे और सुखी वैवाहिक जीवन का आशीर्वाद मिलता है। दिलचस्प बात यह है कि इस त्योहार से जुड़ी एक किंवदंती बताती है कि कैसे एक दयालु पत्नी ने अपने मृत पति को फिर से जीवित करने की ठानी।

Karwa Chauth 2022 date

करवा चौथ का चंद्रमा निकलने का समय और शुभ मुहूर्त (Karwa Chauth Shubh Muhurat)

इस बार करवा चौथ यानी करवा चौथ के दिन चंद्रोदय का समय रात 8 बजकर 9 मिनट पर है

कार्तिक मास की चतुर्थी तिथि 13 अक्टूबर, गुरुवार रात 1 बजकर 59 मिनट पर शुरू होगी और 14 अक्टूकर को सुबह 3 बजकर 8 मिनट तक रहेगी

शुभ मुहूर्त में पूजा करने के बाद रात्रि में चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत तोड़ें।

करवा चौथ 2022: पूजा विधि (Karwa Chauth Puja Vidhi)

करवा चौथ की थाली यहाँ से खरीदे

इस दिन सूर्योदय से पहले उठकर अपने घर की परंपरा के अनुसार सरगी में बनी चीजों का सेवन करना चाहिए।

स्नान करने के बाद मंदिर में दीप जलाकर व्रत का संकल्प लें और व्रत का पालन करें.

शुभ मुहूर्त में देवी-देवताओं का चित्र स्थापित करें और पूजा व कथा का पाठ करें।

चांद निकलने से पहले एक थाली में धूप-दीप, रोली, फूल, फल, मिठाई आदि रख लें।

अर्घ्य देने के लिए एक बर्तन में पानी भरकर मिट्टी के बर्तन में चावल भरकर उसमें कुछ पैसे दक्षिणा के रूप में रख दें।

साज-सज्जा का सामान भी एक प्लेट में रख लें।

चन्द्रमा निकलने के बाद चन्द्र दर्शन कर पूजा करें और चन्द्रमा को अर्घ्य दें।

पानी पीकर व्रत तोड़ें और अपने घर के सभी बड़ों का आशीर्वाद लें।

करवा चौथ 2022 कथा (Karwa Chauth Katha)

 कहा जाता है कि एक साहूकार के 7 बेटे और एक बेटी थी। एक बार एक साहूकार की बेटी ने अपने पति की लंबी उम्र के लिए अपने मायके में करवा चौथ का व्रत रखा। लेकिन भूख-प्यास से उसकी हालत बिगड़ने लगी। सातों भाई अपनी इकलौती बहन से बहुत प्यार करते थे। उनकी बहन की यह हालत उनसे नजर नहीं आई।

चाँद निकलने से पहले ही उसने एक जलता हुआ दीपक एक छलनी के पीछे एक पेड़ की आड़ में रख दिया और अपनी बहन से कहा कि चाँद निकल आया है। बहन ने छलनी में रखे उस दीपक की रोशनी को चंद्रमा समझ लिया और अर्घ्य देकर अपना व्रत तोड़ा। चौथ के दिन भाइयों ने छल से व्रत तोड़ा। इससे करवा माता उन पर क्रोधित हो गईं और कुछ समय बाद उनके पति की मृत्यु हो गई।

इसके बाद महिला को अपनी गलती का एहसास हुआ और उसने अपनी मां से अपनी गलती के लिए क्षमा मांगी और उसने अगले साल कार्तिक के महीने में कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को व्रत रखा। किसी भी प्रकार के धोखे से बचने के लिए उन्होंने स्वयं चंद्र देव को हाथ में छलनी लिए हुए देखा और उसमें दीपक रख दिया। इसके बाद उसका पति जीवित हो गया। कहा जाता है कि तभी से हाथ में चलनी लेकर चांद को देखने की प्रथा शुरू हो गई।

उपर्युक्त कथा के अलावा करवा चौथ पर चांद देखने के लिए महिलाएं छलनी का इस्तेमाल करने के दो अन्य कारण भी हैं। दो कारणों में से पहला यह है कि उत्तरी भारत में विवाहित महिलाएं अपने परिवार के बड़ों के प्रति सम्मान दिखाने के लिए ‘घूंघट’ (चेहरे का पर्दा) पहनती हैं। नतीजतन, जब वे चंद्रमा को देखते हैं, तो वे एक छलनी का उपयोग घूंघट के रूप में सम्मान देने के लिए करते हैं।

दूसरे, चंद्रमा को शांति, प्रेम और आनंद के प्रतीक के रूप में देखा जाता है। चांद से आने वाली किरणों को छानने के लिए महिलाएं छलनी या चलनी का इस्तेमाल करती हैं। छनी हुई किरणों में खुशी और सकारात्मकता मौजूद मानी जाती है।

हिंदू मान्यताओं के अनुसार, चंद्रमा, भगवान ब्रह्मा का एक रूप है और एक लंबे जीवन के साथ संपन्न है। चन्द्रमा सुन्दर, शीतल, प्रिय और दीर्घायु होता है। यह भी एक कारण है कि महिलाएं पहले चलनी से चांद को देखती हैं और फिर अपने पति के चेहरे को। वे अपने पति में इन सभी गुणों के प्रकट होने के लिए प्रार्थना करती हैं और उनके लंबे और स्वस्थ जीवन की कामना करती हैं।

Karwa Chauth Love Shayari

आज फिर आया है मौसम प्यार का,
ना जाने कब होगा दीदार चांद का,
पिया मिलन की रात है ऐसी आई,
आज फिर निखरेगा रूप मेरे प्यार का!
हैप्पी करवा चौथ

Happy Karwa Chauth

karwa chauth wishes

मेहँदी लगा ली हाथो पर,
ओर माथे पर सिंदूर लगाया है !
पियाजी आ जाओ पास हमारे,
देखो चाँद भी निकल आया है !!

karwa chauth wishes

आज का दिन बड़ा ख़ास है,
आपके आने की आस है !
थोड़ी सी भुख थोड़ी सी प्यास है,
आप नही बस आपका अहसास है !!

karwa chauth wishes

आपका साथ मुझे जीवन भर मिले,
हर सुख दुःख मे आप सदा मेरे संग रहे !
चाँद मे दिखती है मुझे मेरे पिया की सूरत,
चाँद संग चांदनी सी है मुझे भी आपकी जरुरत !!

Karwa Chauth Images

karwa chauth wishes

सुख दुःख मे हम तुम हर पल साथ निभाएंगे !
एक जन्म नहीं सातो जन्म पति-पत्नी बन आएंगे !!

karwa chauth wishes

आज सजी हूँ दुल्हन सी में
कब तू आएगा पिया,
अपने हाथो से पानी पिलाकर तू,
कब गले लगाएगा पिया…!!

karwa chauth wishes

मेरी जिन्दगी में रौनक तेरे आने से है,
कभी तुझे सताने में तो कभी तुझे मनाने में.

karwa chauth wishes

Emotional quotes on husband wife relationship in hindi

नाम तेरा ऐसे लिख चुके हैं अपने वजूद पर
की तेरे नाम का कोई भी मिल जाए
तो भी दिल धड़क जाता है….

karwa chauth wishes

मुझे फुरसत कहाँ के मौसम सुहाना देखू,
तेरी यादों से निकलूँ तब तो ज़माना देखू …

karwa chauth wishes

तेरा पता नही पर मेरा दिल कभी तैयार नहीं होगा,
मुझे तेरे अलाबा कभी किसी और से प्यार नही होगा…

karwa chauth wishes

कहानी नही जिंदगी चाहिए, तुझसा नही तु चाहिए,
करते है खुदा से गुज़रिश् उम्र भर तेरा साथ चाहिए …

 

करनी है खुदा से दुवा की तेरी मोहब्बत के सिवा न कुछ और मिले,जिंदगी मे तु मिले सिर्फ तु, या फिर जिंदगी ना मिले….

 

मैंने आज दुआ में उस चाँद सेअपने चाँद की चाँदनी ताउम्र माँगी है।

karwa chauth wishes

ये ख्वाहिशें कैसी है कि हसरतें मिटती नहीं
कितना भी देख लूं तुझे नजरें हटती नहीं

karwa chauth wishes

हमें क्या मालूम था की इश्क क्या होता है,
बस एक तुम मिले और जिंदगी मोहब्बत बन गयी…..

karwa chauth wishes

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट hindiquoteson के साथ।

Image Credit: freepik