Godhan Nyay Yojana: मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना क्या है? किसान किस तरह उठा सकते हैं इस योजना – ABP न्यूज़

By: ABP Live | Updated at : 11 Feb 2022 04:37 PM (IST)

मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना
Godhan Nyay Yojana Benefits: राज्य और केंद्र सरकार (Central and State Government) किसानों की मदद करने के लिए और उनकी आय में वृद्धि करने के लिए तरह-तरह की योजनाएं लेकर आती ही रहती है. किसानों को इन योजनाओं का लाभ समय पर मिल सकें इसके लिए सरकार कुछ (Government Schemes for Farmers) बदलाव भी करती रहती है. इन स्कीमों का मकसद होता है कि वह किसान को आर्थिक रूप से मजबूत बना सकें. ऐसी ही एक योजना जो सरकार द्वारा चलाई जाती है इसका नाम है मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना (Godhan Nyay Yojana). इस योजना को  छत्तीसगढ़ की राज्य सरकार द्वारा चलाया जाता है. इस योजना के तहत सरकार गो पालन को प्रोत्साहित करती है.
इस योजना के तहत सरकार किसानों से गोबर खरीदती है. इससे किसानों को आर्थिक मदद (Financial Help) मिलती है. इस गोबर का सरकार द्वारा सही दाम भी दिया जाता है. लेकिन, बहुत से लोगों को इस योजना के बारे में नहीं पता है. तो चलिए हम आपको इस योजना के लिए आवेदन के तरीके आप लाभ के बारे में बताते हैं-
मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना क्या है?
मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़ द्वारा चलाई जाने वाली एक सरकारी स्कीम है. इस स्कीम का उद्देश्य है कि इससे प्रदेश में पशुपालकों को सरकार द्वारा आर्थिक मदद का लाभ मिल सकें. इस योजना को राज्य में जुलाई 2020 से शुरू किया गया है. इसे राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chhattisgarh CM Bhupesh Baghel) ने शुरू किया था. इस योजना के जरिए सरका पशुपालकों से गोबर खरीदती है और इसके बदले उन्हें उचित दाम दिया जाता है.
इस तरह इस्तेमाल होता है गोबर
सरकार किसानों से गोबर खरीदकर उसे वर्मी कंपोस्ट खाद (Vermicompost) में बदलने कै काम करती है. बाद में यह ऑर्गेनिक खाद के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सरकार ने पिछले साल 100 करोड़ रुपये का गोबर पशुपालकों से खरीदा था. इसे बाद में खाद के रूप में बदला गया. इस योजना का लाभ उठाने के लिए आप प्ले स्टोर से ऐप डाउनलोड करके आवेदन कर सकते हैं.

paisa reels


ये लोग कर सकते हैं इस योजना के लिए आवेदन
-छत्तीसगढ़ राज्य का निवासी होना जरूरी है.
-पशु खुद का होना चाहिए.
-बड़े किसान नहीं होने चाहिए जिनकी खुद की जमीन न हो.
योजना का लाभ उठाने के लिए चाहिए ये डॉक्यूमेंट्स-
-राज्य का मूल निवाली पत्र (State Domicile)
-आधार कार्ड (Aadhaar Card)
-बैंक पासबुक (Bank Passbook)
-रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर (Registered Mobile Number)
-वोटर आईडा कार्ड (Voter ID Card)
ये भी पढ़ें-
Property Buying Tips: नई प्रापर्टी खरीदने से पहले प्रॉपर्टी टैक्स और पावर ऑफ अटॉर्नी के बारे में लें सही जानकारी, नहीं तो बाद में हो सकती है परेशानी
EPFO: 50 लाख लोगों ने ईपीएफओ पर फाइल किया ई-नॉमिनी, ये है नॉमिनेशन फाइल करने के फायदे
India Trade Data: एक्सपोर्ट में आई गिरावट, दिसंबर में व्यापार घाटा बढ़कर 23.76 अरब डॉलर पर पहुंचा
Air India: एविएशन सेक्टर में दबदबा बढ़ाने के लिए 500 नए विमानों का आर्डर दे सकती है एयर इंडिया!
Housing Prices: 2023 में घरों की कीमतों में हो सकता है इजाफा, बिल्डर्स के सर्वे में हुआ खुलासा
IPO News: बाजार के बिगड़े सेंटीमेंट का असर, फरवरी 2023 में इन कंपनियों के लिए IPO लॉन्च करने की समय सीमा हो जाएगी खत्म!
Salary Hike In 2023: खुशखबरी! 2022 से ज्यादा 2023 में बढ़ने वाला है आपका वेतन, 9.8% औसतन बढ़ सकती है सैलेरी
Rajasthan Politics: क्या सचिन पायलट ने अशोक गहलोत पर किया है वार? उनका ये बयान बढ़ा सकता है कांग्रेस की टेंशन
मैनपुरी में जीत के बाद अखिलेश-शिवपाल और समाजवादी पार्टी के अंदरखाने में क्या चल रहा है?
लीजिए खत्म हुआ सिद्धार्थ मल्होत्रा की Mission Majnu का इंतजार! नेटफ्लिक्स पर इस दिन करेगी धमाका
Oxfam Report: अमीर-गरीब के बीच खाई बढ़ी, 1 प्रतिशत धन्‍नासेठों के पास है देश की 40 फीसदी दौलत
‘अधिक बच्चे पैदा करें…’, इस मुख्यमंत्री ने आखिर क्यों की ये अपील? खुद बताई वजह

source