FPO scheme:अब किसानों की होगी चांदी, सरकार करेगी 15 लाख रुपए की आर्थिक मदद – News Nation

सांकेतिक तस्वीर (Photo Credit: News Nation)
नई दिल्ली :  
FPO scheme 2023: व्यापारिक सोच रखने वाले किसानों के लिए खुशखबरी है. क्योंकि केन्द्र की मोदी सरकार  (Modi government) ने किसानों को व्यापारी बनाने वाली  फॉर्मर्स प्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशन योजना 2023  (FPO scheme)के लिए आवेदन शुरु कर दिये हैं. जिसके तहत आपको व्यापार करने के लिए 15 लाख रुपए (15 lakh rupees) का मोटा फंड मिलेगा. इसलिए आपको 11 किसानों को एकत्र कर एक संगठन बनाना होगा. संगठन को रजिस्टर्ड कराना होगा. इसके बाद सरकार पात्र कंपनियों के खाते में 15 लाख रुपए क्रेडिट कर देगी.  यही नहीं इस कर्ज पर सब्सिडी का प्रावधान भी सरकार की ओर से किया गया है. 
यह भी पढ़ें : अब बच्चों से जुड़ी अश्लील वीडियो देखना पड़ेगा महंगा, खानी होगी जेल की हवा
दरअसल, मोदी सरकार ने पीएम किसान एफपीओ स्कीम (PM Kisan FPO Scheme) की शुरुआत की थी. जिसका मुख्य उद्देश्य किसानों को व्यापार से जोड़ना था. ताकि किसान भी ज्यादा पैसा कमा सके. इसके लिए सरकार ने कुछ शर्त रखी थी. जिसमें किसानों को 15  लाख रुपए का लोन देने का प्रावधान किया गया था. लेकिन यह लोन किसी एक किसान के खाते में नहीं डाला जाएगा. बल्कि 11 किसानों की रजिस्टर्ड कंपनी के ज्वाइंट अकाउंट में ये पैसा डाला जाना है. जिसे ये किसान आसान किस्तों में वापस करते हैं. लेकिन अभी भी ज्यादातर किसान स्कीम से अनजान हैं.
कृषि संबंधी करना होग व्यापार 
11 किसानों की ये कंपनी अपने कृषि संबंधी व्यापार का प्रपोजल बनाकर संबंधित विभाग को भेजेंगे. उसके बाद चिंहित होने वाली रजिटर्ड कंपनियों की आर्थिक मदद सरकार करती है.  यदि आपकी कंपनी ग्रो करती है तो सरकार द्वारा आपको स्कीम के तहत सब्सिडी भी दी जाएगी. इसके बाद आसान ईएमआई के माध्यम से आपको पैसा लौटाना पड़ेगा.
कैसे करें आवेदन 
स्कीम का लाभ लेने के लिए आपको  राष्ट्रीय कृषि बाजार की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना होगा. इसके बाद होम पेज पर  एफपीओ के ऑप्शन पर क्लिक करें. अब आप ‘रजिस्ट्रेशन’ के ऑप्शन पर क्लिक करें.  इसके बाद खुलने वाले पेज पर पूरी डिटेल्स फिल करें. इसके बाद आप पासबुक या फिर कैंसिल चेक और ID Proof को स्कैन करके अपलोड करें. ये सभी काम पूरा करने के बाद फॅार्म को सब्मिट कर दें. इसके बाद आपको स्वयं संपर्क कर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी.
© 2023 NEWSNATION. ALL RIGHT RESERVED.

source