Durg News: छत्तीसगढ़ में इस योजना ने बदल दी कई परिवारों की दुनिया, बेटियाें की शादी में – ABP न्यूज़

By: दिलीप कुमार शर्मा, दुर्ग | Updated at : 13 Jan 2023 04:29 PM (IST)

छत्तीसगढ़ में इस योजना ने बदल दी कई परिवारों की दुनिया (फोटो-दिलीप कुमार शर्मा)
टॉइलेट-एक प्रेम कथा फिल्म में टॉइलेट के नहीं होने की वजह से एक परिवार की खुशियां बिखरने के कगार पर आ गई थीं लेकिन जब टॉइलेट बन गया तो घर बिखरने से बच गया. छत्तीसगढ़ में सरकारी योजनाओं के तहत जिन्हें मकान बनाने में सहायता दी गई, सबकी ऐसी ही कुछ न कुछ कहानियां हैं और सभी कहानियों का अंत बहुत सुखद है. कच्ची झोपड़ियों में उनके सपने भी सिसक रहे थे. आवास बन गया तो सपने भी पूरे हो गये. 
कच्चा मकान होने की वजह से टूट जाती थी बेटियों की शादी
छत्तीसगढ़ के दुर्ग स्थित भिलाई की कुरूद बस्ती के वार्ड क्रमांक 16 में कतार से पीएम आवास के घर नजर आते हैं. सारे घर हाल-फिलहाल में तैयार हुए हैं. द्रौपदी साहू का किस्सा भी टॉयलेट एक प्रेम कथा फिल्म से कम नहीं है द्रोपति साहू बताती हैं कि उनकी चार बेटियां थीं, कच्चा घर था. रिश्ता बनता था लेकिन जब लड़के वाले घर की स्थिति देखते थे तो पीछे हट जाते थे. जब ऐसा ही हुआ तो निर्णय लिया कि पीएम आवास के लिए सरकार सहायता दे रही है यह बन जाएगा तो ही रिश्ते के लिए आगे बात करेंगे. घर बन गया और शादी भी तय हो गई.
पीएम आवास योजना ने खुशियों से भर दी जिंदगी

news reels


दामाद कैसा मिला है यह पूछने पर द्रौपदी ने बताया कि घर तो बन गया था लेकिन सजावट कुछ कम थी. दामाद ने कहा कि घर के सामने टाइल्स लगवा दें तो घर और सुंदर हो जाएगा. दामाद ने केवल सुझाव नहीं दिया, उसने टाइल्स भी लगवा दिया. द्रौपदी बताती हैं कि साफसुथरा सुंदर घर कितना अच्छा लगता है. कच्चे घऱ में बहुत दिक्कत होती थी. सरकार ने सवा दो लाख रुपए दिये और हमने अपनी बचत भी इससे जोड़ी जिससे हमारा सुंदर सा घर तैयार हो गया है. अपने सुंदर घर में द्रौपदी ने संत कबीर की तस्वीर वाली टाइल्स भी लगाई है. घर के साथ कितने सारी भावनाएं जुड़ी रहती हैं यह तस्वीर बताती है.
पक्का मकान बनाना एक सपना सा था
एक अन्य हितग्राही दुलेश्वरी साहू ने बताया कि मकान का सपना पूरा करना बहुत कठिन है. जब मकान बनवाना चाहते थे तब अचानक सास की तबियत खराब हो गई. इसमें चार लाख रुपए खर्च हो गए. मकान का सपना अधूरा रह जाता लेकिन तब इस योजना से सहायता मिल गई और घर तैयार हो गया.
अपनी इच्छा अनुसार मकान बनाना अच्छा लगता है
एक अन्य हितग्राही सरस्वती ने बताया कि हमें अधिकारियों का लगातार सहयोग मिला. हमने अपनी तरह का घर बनाया, जिस तरह से हमें जरूरत थी वैसा घर बनाया. मैं हमेशा से सोचती थी कि मेरा किचन बहुत व्यवस्थित हो. किचन बहुत अच्छा तैयार किया है. मकान अपने मन से बनता है तो मन बहुत अच्छा रहता है. वार्ड क्रमांक 16 में जिधर भी जाएं. पीएम आवास हर कहीं बने हुए हैं. सब तरह सुव्यवस्थित मकान बने हुए हैं. कच्ची झोपड़ी की बस्ती के सपनों को छत मिल गईं हैं और सब बहुत खुश हैं.
इसे भी पढ़ें:
Chhattisgarh News: लोक सेवा आयोग के सचिव IAS सुधाकर खलको हटाए गए, शराब पीकर दफ्तर में हंगामा करने का है आरोप
Surguja News: सरगुजा में मृतक भी कर रहे मनरेगा में काम! 2018 में हो गई थी मौत, अब खाते में राशि देख हैरान रह गया परिवार
Chhattisgarh Viral Video: तो इसलिए यमराज चले गए वापस…छत्तीसगढ़ का यह वीडियो है मजेदार, सीएम बघेल ने भी किया ट्विटर पर शेयर
Chhattisgarh: तेंदुए को पकड़ने में वन विभाग नाकाम, हमले से अधेड़ की मौत, अब तक कइयों की गई जान
Bharat Jodo Yatra: राहुल गांधी का हाथ थामकर भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुईं MLA देवेंद्र यादव की 73 वर्षीय मां
Chhattisgarh: बीजेपी नेता की लाश सदिंग्ध हालत में पुल के नीचे मिली, मचा हड़कंप, MLA की टिकट के लिए थे प्रबल दावेदार
नेपाल विमान हादसा: मृतकों के परिजनों को जिला प्रशासन ने भेजा काठमांडू, शिनाख्त के बाद भारत आएंगे शव
मैनपुरी में जीत के बाद अखिलेश-शिवपाल और समाजवादी पार्टी के अंदरखाने में क्या चल रहा है?
California Shooting: अमेरिका में फिर खूनी तांडव, कैलिफोर्निया में गोलीबारी में 6 महीने के बच्चे समेत 6 लोगों की मौत
हनीमून की रात संजय कपूर ने लगा दिया था करिश्मा कपूर पर प्राइस टैग, डराने वाली है पूरी कहानी
Breaking News Live: बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की आज दूसरे दिन की बैठक, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव तेलंगाना दौरे

source